business

Aloe Vera Farming Business ideas 2022 : एलो वेरा की खेती से लेकर जूस बिजनेस तक, पूरा प्रोसेस जानें।

Aloe Vera Farming Business plan in hindi

Rate this post

Aloe Vera Farming Business Plan 2022 : अगर आप भी एलोवेरा की खेती करने के लिए सोच रहे हैं लेकिन पर्याप्त जानकारी के कारण नहीं शुरु कर पा रहे हैं तो आप सही जगह पर आए हैं आज हम इस आर्टिकल में एलोवेरा (aloe vera farming business) के बिजनेस शुरू कैसे करते हैं इसी के ऊपर बात करने वाले हैं। तो अगर आपको भी एलोवेरा के बिजनेस से संबंधित कोई भी जानकारी चाहिए तो आप इस आर्टिकल के साथ कंटिन्यू कर सकते हैं और एलोवेरा बिजनेस से संबंधित सभी जानकारी हासिल कर सकते हैं।

जैसा की आपको भी पता है की आजकल एलोवेरा की मांग बज़ार मे बहुत ज्यादा बढ़ गया है, और इसके पीछे का मुख्य वजह इसमें मिलने वाले विटामिन और खनिज है, इसके साथ ही इसमें एंटीबायोटिक और एंटीफंगल जैसे गुण मौजूद होते है। जिससे कारण इसका डिमांड मार्केट मे बहुत बढ़ गया है। तो ऐसे परिस्थिति मे अगर आप एलोवेरा के बिजनेस शुरू करते हैं तो आपके लिए यह काफी लाभदायक साबित हो सकता है।

Aloe Vera Farming Business plan in hindi

इन सबके अलावा आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आप एलोवेरा के बिजनेस दो तरह से शुरू कर सकते हैं एक इसकी खेती करके और दूसरी इसके जूस या पावडर के लिए मशीन (aloe vera processing machine prices 2022) लगाकर, और जैसा की आपको भी पता है की एलोवेरा का उपयोग हर्बल, कॉस्मेटिक उत्पाद, जूस और दवा इत्यादि बनाने मे किया जाता है। तो ऐसी परिस्थिति में आप चाहे तो अगर आपके पास पर्याप्त भूमि है तो आप इसको फार्मिंग का बिजनेस शुरू कर सकते हैं और अगर आपके पास पर्याप्त भूमि नहीं है तो आप इसका मशीन लगाकर के जूस पाउडर इत्यादि का बिजनेस शुरू कर सकते हैं।

Aloe Vera के प्रकार

वैसे तो एलोवेरा (Aloe Vera) की कई प्रजातियां होती है लेकिन इनमें सबसे प्रमुख और ज्यादा तर बज़ार मे विकने वाली प्रजातियां चैन्सिस, लित्तोराल्लिस, एलो अब्यस्सिनिका इत्यादि है, और एलोवेरा की इन्हीं प्रजातियों का उपयोग आजकल ज्यादातर किया जाता है।

एलोवेरा फार्मिंग बिजनेस को शुरू करने में आने वाला लागत

वहीं आकर इस बिजनेस को शुरू करने में आने वाले लागत के बारे में बात किया जाए तो अगर आप एलो वेरा फार्मिंग के बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कम से कम रेट पर 1 से लेकर 2 लाख रूपये खर्च करने पड़ेंगे, और जब आपके पास पहले से जमीन हो इस परिस्थिति में। वहीं अगर आपके पास फार्मिंग के लिए पर्याप्त जमीन उपलब्ध नहीं है तो ऐसी परिस्थिति में आप को अपने इलाके में जमीन खरीदने के अलग खर्च होंगे।

एलोवेरा जूस पाउडर बिजनेस (aloe vera juice business costs) को शुरू करने में आने वाला लागत

वहीं अगर आप एलोवेरा जूस पाउडर का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कम से कम 5 से लेकर 8 लाख रूपये तक के लागत इसमें आने वाला है, और इसमें सबसे बड़ी लागत आपको प्रोसेसिंग यूनिट लगाने में आता है।

एलोवेरा प्रोसिंग मशीन (aloe vera processing machine) के माध्यम से आप एक बार मे 150 लीटर तक जूस निकाल सकते है, और 1 लीटर जूस बनाने में 40 रूपये तक का खर्च आता है। और इस 1 लीटर एलोवेरा जूस का बज़ार मे क़ीमत 150 से 200 रूपये होता है। तो ऐसी परिस्थिति में आप समझ ही गए होंगे कि आप एलोवेरा जूस पाउडर के बिजनेस शुरू करके कितना प्रॉफिट कमा सकते हैं।

How to start own aloe vera business in 2022 [Hindi Guide]

एलोवेरा फार्मिंग बिजनेस के लिए और इसकी खेती (aloe vera cultivation in hindi) करने के लिए आपको नीचे दिए गए निम्न प्रोसेस को फॉलो करना होगा।

एलोवेरा फार्मिंग से सम्बन्धित जानकारी जुटाना : एलोवेरा फार्मिंग (aloe vera farming business) बिजनेस को शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको इससे संबंधित सभी प्रकार की जानकारी को जुटाना होगा जैसे कि इस का बीज कहां मिलेगा इसके लिए और क्या-क्या चीजों की जरूरत होता है इत्यादि।

पर्याप्त कृषि योग्य भूमि : एलोवेरा की खेती (aloe vera cultivation in hindi) करने के लिए सबसे पहले आपके पास इसके लिए पर्याप्त कृषि योग्य भूमि का होना बहुत जरूरी होता है, और इसकी खेती के लिए आपको ऐसे भूमि की जरूरी होता है जहां वर्षा जल का ठहराव ना हो। इसकी खेती के लिए थोड़ी ऊँची जमीन ज्यादा बेहतर है।

पर्याप्त कैपिटल : उसके बाद आपको इस एलो वेरा फार्मिंग बिजनेस को शुरू करने के लिए कम से कम 1 से 2 लाख तक के कैपिटल की जरूरत होगी, उसकी व्यवस्था करना।

एलोवेरा की खेती (aloe vera farming in hindi) कैसे करें?

अगर आपको भी एलोवेरा की खेती से सम्बन्धित कोई भी जानकारी नही है तो आपकी जानकारी के लिए बता दे की आप 1 हेक्टेयर भूमि पर एलोवेरा की खेती (aloe vera cultivation in hindi) के लिए सबसे पहले खेत की जुताई किया जाता है, उसके बाद उसमें 10 टन खाद, 150 से 200 किलो ग्राम फास्फोरस, 30 से 40 किलोग्राम पोटाश और 100 से 120 किलोग्राम यूरिया मिलाकर छिडकाव किया जाता है, और फिर दुबारा से खेत की जुताई किया जाता है, और उसके बाद एलोवेरा पौधा रोपण के लिए क्यारियों को बना कर एक पौधे से दूसरे पौधे के बीच 50 सेंटीमीटर की दूरी रखते हुए पौधों को रोपा जाता है।

और उसके 8 से 10 महीने बाद यह एलोवेरा का पौधा कटाई के लिए तैयार हो जाता है, और बाकी के प्रोसेस इसके बाद किया जाता है।

Aloe vera Gel, juice making business plan 2022 [Hindi Guide]

वहीं अगर आप एलोवेरा जेल जूस और पाउडर का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नीचे दिए गए निम्नलिखित स्टेप्स को फॉलो करना होगा।

एलोवेरा जूस और पाउडर मशीन : इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको सबसे पहले एलोवेरा जूस पाउडर (aloe vera juice machine prices 2022) मशीन लाना होगा जिसकी की बाजार में कीमत 5 से लेकर 6 लाख तक है। और आप इस मशीन को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से खरीद सकते हैं।

जगह का चुनाव : उसके बाद आपको इस बिजनेस को शुरू करने के लिए ऐसा जगह का चुनाव करना है जहाँ बिजली और पानी का उच्चत्म व्यवस्था हो, और इस व्यापार के सेटअप के लिए मिनिमम 1000 वर्ग फीट जगह की आवश्यकता होगा।

पंजीकरण : उसके बाद आपको इस बिजनेस के लिए सरकार से पंजीकरण कराना बहुत जरूरी होता है, और इसमें आपको मुख्यतः दो तरह की पंजीकरण की आवश्यकता होगा, सबसे पहले gst पंजीकरण और दूसरा कॉस्मेटिक उत्पादों के लिए फैक्ट्री स्थापित कर रहे हैं उसका रजिस्ट्रेशन इत्यादि।

एलोवेरा कंपनी से सम्पर्क : उसके बाद आपको उस जेल, जूस और पाउडर को बाजार में उतारने के लिए एलोवेरा  कंपनियों से संपर्क करने की जरूरत होता है।

निष्कर्ष

इस तरह आप ऊपर दिये गए केवल कुछ स्टेप्स को फॉलो करके आप आसानी से एलोवेरा फार्मिंग (Aloe Vera Farming) और एलोवेरा जूस पाउडर का बिजनेस शुरू कर सकते हैं बाकी एलोवेरा बिजनेस संबंधित किसी अन्य जानकारी के लिए नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करना ना भूलें।

Bihar Feed Team

Biharfeed is dedicated to all those people who always want to be updated with Biography, Business Ideas, Entertainment, famous places to visit, And government scheme.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button